Friday, February 25, 2011

बहरूपिया

कभी कभी 
एक अजीब सा ख्याल 
मेरे सामने आ खड़ा होता है,
कि
मोहब्बत मुझे तुमसे है
या
उस बहरूपिये से
जो गैरहाजरी में तुम्हारी
तुमसे भी अच्छी भूमिका निभाता है...  

2 comments:

  1. बहुत कुछ कहा है यहाँ ....! शुभकामनायें !

    ReplyDelete

Text selection Lock by Hindi Blog Tips